ज़मीन अपनी तो थी

By चन्दन पाण्डेय 1,240 पढ़ा गया | 5.0 out of 5 (1 रेटिंग्स)
Literature & Fiction Crime Thriller Adventure Mini-SeriesEnded7 एपिसोड्स
‘ज़मीन अपनी तो थी’ एक व्यक्ति की पहचान पर लगा प्रश्नचिन्ह है। एक ओर शहर में दंगे भड़के हुए हैं, दूसरी ओर अनिकेत की दिल्ली पहुँचने की जद्दोजहद। सवारी न मिलने पर अनिकेत अनजान गाड़ी से लिफ्ट ले लेता है। दो संदिग्ध आदमी किस तरह उसकी पहचान को लेकर उसे मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करते हैं, चन्दन पाण्डेय ने इसे अपने ख़ास अन्दाज़ में बयां किया है।
रेटिंग्स और रिव्युज़
1 रेटिंग्स
5.0 out of 5
पूर्व गतिविधि
"NIRAJ SINGH"

बहुत सुन्दर

4 Mins 457 पढ़ा गया 5 कमेंट
एपिसोड 2 13-10-2021
5 Mins 173 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 3 13-10-2021
6 Mins 133 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 4 13-10-2021
5 Mins 112 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 5 13-10-2021
5 Mins 114 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 6 13-10-2021
4 Mins 116 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 7 13-10-2021
4 Mins 135 पढ़ा गया 0 कमेंट

ऐसे ही अन्य