राजेंद्र यादव : कुछ यादें, कुछ बातें

By ओमा शर्मा 5,280 पढ़ा गया | 5.0 out of 5 (4 रेटिंग्स)
Autobiography Literature & Fiction Mini-SeriesOngoing24 एपिसोड्स
हिंदी के जाने माने कथाकार और नई कहानी के पुरोधाओं में से एक, राजेंद्र यादव जी के स्मृति में ओमा शर्मा की यह पुस्तक, उनके वैचारिक बुनाव, साहित्यिक रुझान, सृजन के क्षण, सृजन के तरीकों का अवलोकन करती है। मूलतः यह किताब दो खंडों में बनी है - पहला राजेंद्र यादव का दिया गया साक्षात्कार है जिसमें लेखक राजेंद्र के पीछे के व्यक्ति राजेंद्र से मुलाकात होती है और दूसरा जिसमें राजेंद्र यादव जी के जीवन काल का सूक्ष्म अवलोकन है।
रेटिंग्स और रिव्युज़
4 रेटिंग्स
5.0 out of 5
पूर्व गतिविधि
"Ankita Chauhan"

लेखकों के जीवन और रचना प्रक्रिया के बारे में पढ़ना बहुत पसंद है, ये किताब ऐ...Read more

"ARUN KUMARYADAV"

ज्ञानवर्धक व रोचक संग्रह। बहुत कुछ जानने व सीखने को मिला।Read more

"Shiv"

इसको इतनी आसानी से सर्व सुलभ करवाने का शुक्रिया ♥️🙌🏻Read more

"Kunal"

बहुत सुंदर किताब। 🌻

5 Mins 1.91k पढ़ा गया 9 कमेंट
एपिसोड 2 28-08-2021
4 Mins 638 पढ़ा गया 2 कमेंट
एपिसोड 3 28-08-2021
4 Mins 369 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 4 28-08-2021
5 Mins 293 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 5 28-08-2021
5 Mins 226 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 6 28-08-2021
5 Mins 158 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 7 28-08-2021
6 Mins 157 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 8 28-08-2021
7 Mins 125 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 9 28-08-2021
4 Mins 108 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 10 28-08-2021
4 Mins 89 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 11 28-08-2021
3 Mins 93 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 12 28-08-2021
6 Mins 91 पढ़ा गया 2 कमेंट
एपिसोड 13 28-08-2021
4 Mins 106 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 14 28-08-2021
5 Mins 101 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 15 28-08-2021
5 Mins 79 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 16 28-08-2021
4 Mins 80 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 17 28-08-2021
6 Mins 101 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 18 28-08-2021
6 Mins 86 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 19 28-08-2021
5 Mins 70 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 20 28-08-2021
5 Mins 58 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 21 28-08-2021
4 Mins 64 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 22 28-08-2021
4 Mins 71 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 23 28-08-2021
4 Mins 77 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 24 28-08-2021
3 Mins 123 पढ़ा गया 0 कमेंट