इतने सारे शब्द

By योगेन्द्र आहूजा 866 पढ़ा गया | 5.0 out of 5 (1 रेटिंग्स)
Literature & Fiction Romance Mini-SeriesEnded9 एपिसोड्स
'इतने सारे शब्द' कहानी है मीनाक्षी और कवि स्तब्ध की। उनके प्रेम की, बिछड़ने की और बरसों बाद एक बार फिर मिलने की। इश्क़ के सपनीले संसार से निकल दुनियावी हक़ीक़त का सामना कर रहे ये दोनों जब 24 साल बाद मिलते हैं तो क्या होता है? क्या होता है जब कवि अपनी उस प्रेमिका को बरसों बाद देखता है, जिसकी ख़ूबसूरती पर वह कभी कविताएं लिखा करता था?
रेटिंग्स और रिव्युज़
1 रेटिंग्स
5.0 out of 5
पूर्व गतिविधि
"Himanshu Pratap Snehi"

बेहद रोचक कहानी।

"Himanshu Pratap Snehi"

बेहद रोचक।

"Himanshu Pratap Snehi"

....... .......

4 Mins 259 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 2 01-12-2021
5 Mins 121 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 3 01-12-2021
4 Mins 87 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 4 01-12-2021
4 Mins 70 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 5 01-12-2021
5 Mins 68 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 6 01-12-2021
5 Mins 57 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 7 01-12-2021
4 Mins 55 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 8 01-12-2021
4 Mins 63 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 9 01-12-2021
5 Mins 86 पढ़ा गया 0 कमेंट

ऐसे ही अन्य