डैफ़ोडिल जल रहे हैं

By मृदुला गर्ग 1,310 पढ़ा गया | 3.7 out of 5 (3 रेटिंग्स)
Literature & Fiction Mini-SeriesEnded9 एपिसोड्स
'डैफ़ोडिल जल रहे हैं' कहानी है जीवन के अस्तित्व बोध के साथ क़दम से क़दम मिला कर चलती मृत्यु चेतना की। मानो, मौत इस ख़ूबसूरत ज़िंदगी का उतना ही सुंदर और ज़रूरी हिस्सा हो। लेकिन क्या ज़िदगी से बेसाख़्ता मोहब्बत करने वाले शख़्स के लिए मौत को गले लगाना आसान हो जाता है? पुनर्जन्म और नई शुरुआत के प्रतीक डैफ़ोडिल के पीले सुंदर फूल क्या बीना और जिना के नारी मन को जीवन का ऐसा ही सुंदर सबक़ देते हैं?
रेटिंग्स और रिव्युज़
3 रेटिंग्स
3.7 out of 5
पूर्व गतिविधि
"ज्योति मिश्रा"

बहुत बढ़िया कहानी.... अंत कमाल काRead more

"Smriti Prakash"

speechless पता नहीं क्या है,पर जो भी है गज़ब हैRead more

"Kamlesh Jha"

बहुत सुन्दर कहानी । एक बार पढ़ना शुरू किया तो अंत तक पढ़ने से नही रोक सकी ।Read more

4 Mins 326 पढ़ा गया 4 कमेंट
एपिसोड 2 20-05-2022
5 Mins 184 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 3 20-05-2022
4 Mins 140 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 4 20-05-2022
4 Mins 118 पढ़ा गया 2 कमेंट
एपिसोड 5 20-05-2022
4 Mins 113 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 6 20-05-2022
4 Mins 111 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 7 20-05-2022
5 Mins 112 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 8 20-05-2022
4 Mins 98 पढ़ा गया 0 कमेंट
एपिसोड 9 20-05-2022
5 Mins 106 पढ़ा गया 4 कमेंट

ऐसे ही अन्य